Home Career web developer learn 5 language in 2020 in hindi

web developer learn 5 language in 2020 in hindi

क्या आप web developer बनना चाहते हैं? और आपको यह समझ नहीं आ रहा है कि web developer बनने के लिए कौन-कौन सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने की जरुरत है ? और आप एक अच्छा वेब डेवलपर बन सके. तो आज मैं इस आर्टिकल के माध्यम से यह बताऊंगा कि आपको क्या-क्या सीखना चाहिए ? आज के समय में सब कुछ ऑनलाइन सिस्टम होने के कारण छोटी-बड़ी सभी प्रकार की कंपनियां अपने bussiness को ऑनलाइन बढ़ा रहे हैं. जिससे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ गयी है. तो आइये जानते हैं…

अगर आप web developer बनना चाहते हैं या फिर बनने के लिए अग्रसर हैं तो आपको पता होगा कि वेबसाइट के दो भाग होते हैं . Front End और Back End Developer.

Front End developer वेबसाइट की design करता है दूसरे शब्दों में कहे तो जब हम किसी वेबसाइट से विजिट करते हैं तो सामने से जो दिखता है मतलब वेबसाइट का कलर, फॉन्ट साइज़,बटन, image इत्यादि कैसा है यह सब काम एक Front End developer करता है. इसमें कई प्रकार का फ्रेमवर्क होता है जैसे- Bootstrap और Angular, CSS, इत्यादि.

Back end developer का काम ब्राउज़र पर दिखाई नहीं देता है यह फ्रंट एंड से जानकारी लेता और देता है. जैसे हम किसी वेबसाइट से विजिट करते है तो उसमे अपना अकाउंट create करने के लिए एक कांटेक्ट page आता जिसको हम फिल करके समिट कर देते है और जब दोबारा विजिट करते है तो वह सारा इनफार्मेशन नहीं भरना पड़ता है केवल लॉग इन करते है जो एक यूजर id और पासवर्ड चुने रहते है . और इसके बाद लॉग इन करके उस page पर इंटर हो जाते है. जहा हमें जाना होता है. यह केवल क्लाइंट साइड पर दिखाई देता है. इसमें डाटा को स्टोर किया जाता है. इसके लिए कई लैंग्वेज use करते हैं जैसे-Python, PHP, JAVA, इत्यादि. जिस व्यक्ति को इन दोनों के बारे में नॉलेज होती है उसे full stock developer कहते हैं.

यह 5 Programing Language 2020 में web developer के लिए सीखन है जरुरी

HTML:

HTML का नाम है Hyper Text Markup Language. यह एक Plateform-Independent कंप्यूटर लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल web page बनाने में किया जाता है. इसके code को ब्राउज़र (Chrome, Mozilla Firefox etc) बड़ी आसानी से पढ़ लेता है. यह किसी भी वेबसाइट का एक प्रकार से ढांचा बनाने का कार्य करता है. इस लैंग्वेज की खोज सन 1980 में Tim Berner Lee द्वारा किया गया था. यह किसी भी प्लेटफोर्म जैसे Window, Mac, Linux आदि में किया जाता है.

Read Also:

CSS:

इसका पूरा नाम Cascading Style sheet है. CSS का कार्य किसी वेबसाइट को स्टाइल करना होता है. इसके द्वारा किसी वेबसाइट के webpage को बेहतरीन और attractive बनाने में किया जाता है.किसी भी वेबसाइट को बनाने में HTML और CSS का का बहुत बड़ा योगदान है. बिना HTML और CSS के वेबसाइट की कल्पना नहीं की जा सकती है. CSS के बिना HTML का इस्तेमाल हो सकता है लेकिन बिना HTML के CSS का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता.CSS की मीडिया क्वेरीज का इस्तेमाल करके हर device के लिए रेस्पोंसिवे बनाया जाता है. इसकी खोज सन 1994 में Hakon Wium Lie के द्वारा किया गया था.

JAVA SCRIPT:

यह एक बहुत popular प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है. इसके प्रयोग से web pages में अलग-अलग तरह की चीजों को लागू किया किया जाता है. Javascript एक client-side scripting language है . जिसके source code को web ब्राउज़र के बजाय सर्वर द्वारा प्रोसेस किया जाता है. इसका इस्तेमाल HTML के अन्दर use किया जाता है. इस लैंग्वेज का इस्तेमाल बहुत ज्यादा जैसे Facebook Google में भी होता है . Javascript का अविष्कार 1995 में Brendan Eich ने किया था. पहले जावास्क्रिप्ट का इसका नाम Livescript था जो बाद में बदलकर जावास्क्रिप्ट रखा गया.

PHP:

यह एक सर्वर साईट स्क्रिप्टिंग लैंग्वेज है. इसका full form “Hypertext Preprocessor” है. जोकि PHP के नाम से जाना जाता है. यह एक बहुत powerfull और Plateform independent लैंग्वेज है . जो वेबसाइट को डेटाबेस से कनेक्ट करता है. यह लैंग्वेज किसी वेबसाइट को developement करने के लिए बहुत जरुरी होता है. इस लैंग्वेज का अविष्कार 1994 में Rasmus Lerdorf ने किया था. इन्होंने सबसे पहले अपने रिज्यूमे वेबसाइट पर इस्तेमाल किया था. पहले इसका नाम “Personal Home Page Tools” था जो बाद में बदल कर PHP (Hypertext Preprocessor) कर दिया था.

Python:

पाइथन आज के दौर का सबसे पोपुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में से एक है . इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की दिनों-दिन popularty बढ़ती जा रही है. यह एक High level programing language है. जिसका प्रयोग web development से लेकर गेम development तक किया जाता है. जिससे पाइथन की मांग बढ़ती जा रही है. पाइथन को 1985-1990 के दौरान Guido Van Rossum द्वारा अविष्कार किया गया था. पाइथन का पहला version 1994 में आया था. और अब version 3.8.3 चल रहा है जोकि 13 मई 2020 को released हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

मेहंदी के फायदे, जानिए बालों के लिए कितना है लाभदायक

मेहंदी केवल बालों की सफेदी को ही काम नहीं करती है बल्कि बालों को स्वस्थ रखने में भी मदद करती है। अर्थात या बालों...

Tally में company कैसे बनाते है? जानिए और भी महत्वपूर्ण चीजें…

दोस्तों आज मैं आप लोगों के लिए कुछ ऐसा टॉपिक लाया हूँ जिसको हर अकाउंट या टैली से रिलेटेड काम करने वाले लोगों को...

15 August: जानिए 15 अगस्त किन-किन देशों के लिए है महत्वपूर्ण और रोचक बातें…

15 August भारत का एक राष्टीय पर्व है. जिसको पूरा देश बड़ी श्रद्धा और हर्षोल्लास से मनाता है. लेकिन 15 अगस्त इसको क्यों मनाया...

जानिए एलोवेरा के फायदे और जूस बनाने की विधि

आज के समय में एलोवेरा के बारे में तो सब जानते ही है कि उसका पौधा कैसा होता है और किस आकार का होता...