Home Education Gstr1 क्या है ? इसको रिटर्न कैसे करे ? जानिए...

Gstr1 क्या है ? इसको रिटर्न कैसे करे ? जानिए…

Gstr1 क्या है और इसका रिटर्न कैसे करे ? इसमें क्या-क्या डिटेल भरी जातीहैं, gstr 1 की मंथली फाइल करने की लास्ट डेट कब होता है? अगर आपको यह सब नहीं पता है तो इस आर्टिकल में आपको वो सारी जानकारी मिलेगी । बस आपको यह आर्टिकल पूरा पढ़ना होगा।

Gstr1 क्या है? 

जिसमे सेल की रिटर्न है आपको अपने सेल्स की इनवॉइस को दिखानी है उसे Gstr 1 कहते हैं। ये आप मंथली फाइल कर सकते है इसमें आपको सेल की सारी information भरना है।

  • सेल to रजिस्टर पर्सन
  • सेल to अनरजिस्टर पर्सन
  • सेल to composition डीलर्स
जितने भी आपके सेल हुई है उस महीने के अंदर उसको आप को दिखाना है। मतलब आपका जिस महीने में सेल हुई है उसके अगले महीने के 10 तारीख तक फाइल करना होता है ।
For example- अगर आप अगस्त के महीने में सेल करते है तो आप को अगले महीने सितंबर की 10 तारीख तक फाइल करना है।
इनवॉइस मतलब जो बिल रहेगा वो केवल अगस्त का ही रहेगा लेकिन उसका लास्ट डेट अगले महीने 10 तक रहता है इसके अंदर आपको फाइल रिटर्न कर देना है।

Gstr1 दो प्रकार से फाइल होता है

1.इसमें आप अपने एक्सेल शीट में gstr 1 डेटा बनाकर रिटर्न फाइल कर सकते है इसको हम ऑफ़ लाइन कहते है।
2. इसमें आप Direct www.gst.gov.in पर जाकर फाइल कर सकते है और अब तो टैली से भी gstr फाइल कर सकते है ऑफलाइन वंहा से आपका डेटा तैयार हो जाता है अपने आप जैसे-जैसे आप टैली sowftware पर  काम करते है वो अपने आप वहां तैयार हो जाता है। उसमे आपका कुछ मिशमैच आता है तो आप उसको सही करके वहां से भी फाइल upload कर सकते है।

Also Read…

जानिए किन लोगों को Gstr 1 रिटर्न को फाइल करना है?

Gstr1 उन सभी लोगों को फाइल करना होता है जो gst रजिस्टर है या फिर टैक्स पयबेल है आप को हर महीने डेट to date file रिटर्न करनी है चाहे आप सेल किए हो या ना किए हो। अगर आप सेल नी किए रहंगे तो आप का निल रिटर्न फाइल होगा लेकिन करना ही होगा क्योंकि ये अनिवार्य है।

Good service tax return1 में दी जाने वाली कुछ जानकारियां

Gstr1 फाइल रिटर्न करते समय कुछ अलग अलग सेक्शन और प्वाइंट है जिसको जानना आपके लिए बहुत ही जरूरी है। यह जानने के बाद आपको रिटर्न फाइल करते समय बहुत ही आसानी होगी।
1. सबसे पहले आप अपने Google साइट पर जाकर gst फाइल करने की website डाले www.gst.gov.in search करे ।
2.उसके बाद आपके सामने एक पेज ओपेन होगा उसमे ऊपर राईट साईट पर login का ऑप्शन देखेगा उस लॉग इन icon पर  क्लिक करे ।
3. आपको एक डैशबोर्ड दिखेगा जिसमे अपना यूजर आईडी डाले (जो आप जीएसटी लेते समय मिला होगा) पासवार्ड डाले और फिर कैपचर कोड फिल करके लॉगिन पर क्लिक करें।

Also Read…

4. फ़िर  एक नया पेज open होगा.  कुछ ऑप्शन मिलेंगे जिसमे आपको सर्विस पर क्लिक करना होगा ।
5. क्लिक करने के बाद फिर आपको कुछ ऑप्शन मिलेंगे जिसमे आपको रिटर्न पे क्लिक करना है
6. वहां क्लिक कराने के बाद आपको येक रिटर्न क्वीक लिक मिलेगा
उसके आप रिटर्न डैशबोर्ड पे क्लिक करे
7.उसके बाद आप उसमे financial ईयर सिलेक्ट करे उसके बाद रिटर्न filling पीरियड में महीने सिलेक्ट करके सर्च पे क्लिक करे ।
8.फिर वहां आप को कुछ और रिटर्न की ऑप्शन मिलेगा जिसमे आपको gstr1 सेलेक्ट करके prepare online पे click करे।
9.फिर आप का मेन ऑप्शन आता है जिसमे आपको बहुत समझ के फिल करना है डेटा को
जिसमे आप का पहला ऑप्शन 4A,4B,4C,6B,6C,-B2B invoice का आएगा।
जिसपे आप को जितना भी सेल किया है gst रजिस्टर पर्सन को वो सारा डेटा आएगा येक महीने का स्टेप by स्टेप
उसपे क्लिक करने के बाद
10. B2B। Invoices – रिसिवर – वाइज – समरी आएगा उसमे आपको एड डिटेल पे क्लिक करना है ।
11. फ़िर आप का invoice वाइज डेटा fill होगा
सबसे पहले आप रिसिवर जीएसटी नंबर डाले उसके बाद
12.name अपने आप आ जाएगा उसके बाद
13. उसके बाद आप अपने invoice मतलब अपने बिल नंबर डाले
14. उसके बाद बिल का डेट डाले और आपका pos apne aap सेलेक्ट हो जाएगा
15. उसके बाद आप टोटल इनवॉइस value डाले जितना आप का बिल Amount है उसके बाद आप टैक्स सेलेक्ट में डाले की कितने amount पर kitna प्रतिशत टैक्स लगा है और फिर सेव कर दे। ऐसे आप अपने सारे बिल फिल करे।
16.उसके बाद फिर आते है 7-B2C (others) पर उसपर क्लिक करे और फिर add details pe click करने के बाद ।
17. pos सेलेक्ट करे और पूरा टैक्सेबल वैल्यू डाले उसके बाद टैक्स रेट सेलेक्ट करे और फिर save कर दे
ध्यान रहे इसमें वहीं बिल amount आएंगे जो केवल cash और अन रजिस्टर पर्सन को बेचा गया है और इसमें पूरा amount एक साथ ही भरना है।
For example- जैसे आप कई लोगो को cash और कई अन रजिस्टर मतलब जिनके पास जीएसटी नंबर नहीं है उनको बेचा है तो वो सारे बिल का टोटल amount जोड़ के एक बार में ही लिखना है।
18. उसके बाद जेनरेट gstr1 समरी के नीचे मार्क करके submit पर click करके कुछ टाइम तक छोड़ दे।
19. कुछ टाइम बाद आप को फाइल रिटर्न पर क्लिक करने के बाद कम्पनी के प्रोपराइटर का नाम सेलेक्ट करे।
20. सेलेक्ट करने के बाद फिर आप emc सेलेक्ट करे और फिर ओटीपी को इंतजार करे ।
ओटीपी आने पे बाद फिल करके ok करे फिर आपका सही से रिटर्न फाइल पूरा हो गया।

अगर आपको ऊपर दिए गए सुझाव में कुछ समझने में दिक्कत आये या फिर समझ में ना आये अथवा कुछ पूछना चाहते हैं तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं . आपको as soon as possible responce मिलेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Bollywood के Top 10 अभिनेता, जानिए इनकी कुल संपत्ति

1. शाहरुख खान शाहरुख खान का जन्म 2 नवंबर 1965 में हुआ था ।यह एक भारतीय अभिनेता है। यह अक्सर मीडिया की सुर्खियों में बने...

Gstr 4 का एनुअल रिटर्न फाइल कैसे करें, जानिए स्टेप to स्टेप…

नमस्कार दोस्तों fblogging.com में आपका स्वागत है. मैं पिछले कुछ महीनों से tally और GST and tax के बारे में आर्टिकल के माध्यम से...

दुनिया के 10 सबसे अमीर व्यक्ति…..

विश्व की जानी-मानी पत्रिका Forbes हर क्षेत्र के अमीर लोगों की सूची जारी करती है। यह सूची कंपनियों के कारोबार की कमाई के आधार...

Bollywood की 10 सबसे अमीर actress, जो करती सबके दिलो पर राज

आजकल के समय में india की फिल्म इंडस्ट्री बॉलीवुड के नाम से जानी जाती है। तथा यह आजकल के youth के दिलो-दिमाग में छाई...